मोबाइल की लाईट में होती है जिला अस्पताल में पट्टी

प्रदेश

मोबाइल की लाईट में होती है जिला अस्पताल में पट्टी


उमरिया 17 अक्टूबर – जिला अस्पताल में कहने को तो बड़े बड़े जनरेटर रखे हैं, सोलर प्लेट लगी है, यहां के लिए 16 लाख रुपए लगा कर अलग से विद्युत लाइन खींची गई है, लेकिन सब बेकार है। दोपहर से जिला अस्पताल की विद्युत आपूर्ति बाधित रही और घायलों की पट्टी और टांके लगाने का काम मोबाइल की लाइट में होता रहा, इतना ही नही घायल को वार्ड में शिफ्ट करने के बाद घंटो लाइट का इंतजार किया जाता रहा, लाइट आने पर इंजेक्शन और ड्रिप लगाया गया। घायलों के परिजनों ने बताया कि लाइट न होने से देर हुई है। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार तो हर सुविधा दे दी लेकिन यहां के सिविल सर्जन और सी एम एच ओ को अपने अलावा किसी से कोई मतलब नहीं है। ऐसे में कभी कोई बड़ी अनहोनी भी हो सकती है और उस स्थिति में अस्पताल प्रबंधन सॉरी बोल कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर लेगा। ऐसे में आवश्यक है कि जिम्मेदारों पर सख्त कार्रवाई हो ताकि किसी अप्रिय घटना को होने से रोका जा सके।

मोबाइल की लाईट में पट्टी करते
लाइट आने पर ड्रिप लगती
गन्नू राम खट्टर
माधव कोल
रखे जनरेटर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *