किसानों ने दी सरकार को चेतावनी बिजली नही मिली तो होगी 2003 जैसी स्थिति

प्रदेश

किसानों ने दी सरकार को चेतावनी बिजली नही मिली तो होगी 2003 जैसी स्थिति

उमरिया 11 अक्टूबर – जिले के मानपुर विधानसभा क्षेत्र के किसान बिजली की समस्या से परेशान, किसानों ने दी चेतावनी अगर बिजली नही मिली तो 2003 जैसे ही सरकार बदल देंगे। वहीं बिजली विभाग पर पैसे लेकर ट्रांसफार्मर बदलने का लगाए आरोप।
उमरिया जिले में बिजली की स्थिति बद से बदतर है। आये दिन ग्रामीण क्षेत्रों से आकर किसान विद्युत मंडल कार्यालय में डेरा डाले रहते हैं और विद्युत विभाग के उच्च अधिकारी किसानों को देखकर कार्यालय छोड़ कर गायब हो जाते हैं या फिर बाहर ही नही निकलते हैं। आज भी ऐसा ही हुआ जब मानपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम हरदुआ के 25 – 30 किसान विद्युत विभाग के कार्यालय पहुंच गए तो वहां से एस ई और डी ई नदारद हो गये। अब बचे तो मात्र ए ई , सारे आक्रोशित ग्रामीण ए ई कार्यालय में घुस गए और ए ई ने 3 दिन में ट्रांसफार्मर बदलवाने का आश्वासन दिया। वहीं ग्रामीण राम लखन जायसवाल ने बताया कि हम लोग बिजली की समस्या को लेकर आये हैं, हमारे यहां डेढ़ माह से ट्रांसफार्मर जला हुआ है, हम लोग कई बार यहां आए हैं, जुलाई माह में भी ट्रांसफार्मर जला था तो दस हजार रुपये देकर बदलवाए हैं, ए ई साहब को रिश्वत दिए थे, 1 माह चला था फिर जल गया, अब पैसा नही दे रहे हैं इसीलिए नहीं बदल रहा है, अब डेढ़ माह से जला है। विधायक को भी आवेदन दिए हैं वो भी कहती हैं कि हम बदलवा देंगे, और अगर यही हाल रहा तो जो 2003 में कांग्रेस के साथ हुआ था मैं एक भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता होकर बोल रहा हूँ वही हाल इस बार होगा।
वहीं ग्राम हरदुआ निवासी सोने लाल विश्वकर्मा ने बताया कि डेढ़ माह से ट्रांसफार्मर जला हुआ है, फसल सूख रही है, बच्चे पढ़ नही पा रहे हैं, पीने के पानी की व्यवस्था गड़बड़ा गई है, हम लोग मानपुर विधानसभा क्षेत्र के हैं हमारे यहां की विधायक मीना सिंह हैं मंत्री भी हैं। मंत्री जी को 2 बार आवेदन दे चुके हैं, हम लोग परेशान हैं आने वाले चुनाव में जनता उनके विपरीत रहेगी हमको नही चाहिये ऐसी मंत्री।
इस मामले में ए ई शिशिर सताक्षी ने बताया कि ग्राम हरदुआ का ट्रांसफार्मर बीच मे भी जल गया था, उस समय बदलवा दिया गया था और फिर से जल गया है 2 – 3 दिन में बदलवा दिया जाएगा, वहीं बार बार जलने के मामले में लापरवाही पूर्वक कहे कि हो सकता है लोड ज्यादा होगा या कोई और फाल्ट होगा, हमारे पास कनिष्ठ यंत्री जो लोड भेज देते हैं वही ट्रांसफार्मर हम भेजते हैं और जैसे – जैसे ट्रांसफार्मर उपलब्ध होते हैं वैसे भेजते हैं। जहां इलीजिबिल होता है वहां हम भेजते हैं।
गौरतलब है कि ग्रामीण बिजली की समस्या से परेशान होकर अब सरकार बदलने की ठानते जा रहे हैं, यह तो आने वाले समय में ही पता चलेगा।

राम लखन जायसवाल
सोने लाल विश्वकर्मा
शिशिर सताक्षी ए ई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *